Monday, October 3UAM - UDYAM-BR-13-0006027

गोरखपुर में खुलेगा नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो का केंद्र,आस पास के जिलों सहित नेपाल और बिहार बॉर्डर पर रहेगा निगरानी

गोरखपुर और आसपास के क्षेत्रों के लिए यह अच्छी खबर है बता दें कि गोरखपुर में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो का क्षेत्रीय केंद्र खोलने की तैयारी शुरू हो गई है। मीडिया खबर के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद नशाखोरी पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस एवं प्रशासन तैयारी में जुट गया है बता दें कि क्षेत्रीय केंद्र खोलने को लेकर प्रशासन की तरफ से चरगांवा में डेढ़ एकड़ से अधिक भूमि विभाग को आवंटित कर दिया गया है।

गोरखपुर एवं आसपास के जिलों सहित नेपाल और बिहार बॉर्डर पर रहेगी निगरानी

दरअसल आपको बता दें कि सीएम ने उत्तर प्रदेश में नशाखोरी को रोकने के लिए निर्देश दिया है उन्होंने कहा कि जो नशे के कारोबारी हैं उनके साथ सख्ती से निपटा जाए। सीएम के निर्देश के बाद पुलिस एवं प्रशासन एक्टिव हो गई है। वही  गोरखपुर में नारकोटिक्स ब्यूरो के क्षेत्रीय केंद्र खोला जाएगा। गोरखपुर में इस केंद्र के खुलने से नेपाल बिहार बॉर्डर सहित आसपास के जिलों में भी नशाखोरी के कारोबार को रोकने में सहायता मिलेगी और निगरानी भी रखी जा सकेगी।

एनसीबी का दूसरा केंद्र बरेली में खुलेगा

मिली खबर के अनुसार नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो का दूसरा केंद्र बरेली में खुलने की संभावना है। गोरखपुर में इसके केंद्र को खोलने के लिए शासन की तरफ से 2 एकड़ जमीन चिन्हित कर प्रस्ताव भेजने के लिए कहा गया था वही शहरी क्षेत्र में जमीन देने का निर्णय लिया गया और चरगांवा में 1.6 एकड़ जमीन चिन्हित कर एनसीबी को आवंटित कर दिया है अब जल्द ही यह केंद्र का निर्माण तेज़ी से होगी।

क्या होता है नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो

एनसीबी को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो  या स्वापक नियंत्रण ब्यूरो कहां जाता है  यह केंद्र  ड्रग्स तस्करी से लड़ने और अवैध पदार्थों के दुरुपयोग के लिए भारत की नोडल ड्रग कानून प्रवर्तन और खुफिया एजेंसी है, एनसीबी के महानिदेशक भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस)  भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) के एक अधिकारी होते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.