Monday, October 3UAM - UDYAM-BR-13-0006027

गोरखपुर में रोज़गार का होगा भंडार, जीडीए द्वारा जारी 207 एकड़ में फ़ैक्ट्रियो का निर्माण कार्य शुरू

गोरखपुर वासियों के लिए खुशखबरी है, खबर मिली है कि जल्द ही पूर्वांचल औद्योगिक विकास की सूरत में बदलाव आ सकता है। इसके लिए गीडा (गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण) के भी टी रावत में फैक्ट्रियों को स्थापित करने के लिए सभी मूलभूत सुविधाओं को विकसित करने का काम जो चल रहा था, खबर मिली है कि वह अब पूरा हो चुका है। गौरतलब है कि इसके बाद यहां फैक्ट्रियों की स्थापना एवं उत्पादन को शुरू करवाने पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। अगर बात करें निवेश की तो आपको बता दें कि सुनने में आ रहा है कि  भी टी रावत में बड़े पैमाने पर निवेश भी किए जा रहे है। जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि जल्द ही यहां रोजगार के नए अवसर उत्पन्न हो सकते हैं।

 

# क्या है आगे की योजना___

* सेक्टर 26 भी टी रावत में 207 एकड़ की भूमि पर गीडा ने शुरू करवाया विकास कार्य।

* जिसके अंतर्गत गारमेंट पार्क को विकसित करने के लिए 25 एकड़ भूमि निर्धारित की गई है।

* 101 भूखंड प्रस्तावित एवं 60 भूखंड आवंटित।

* केयान इंडस्ट्रीज को 20 एकड़ भूमि दी गई ।

* गारमेंट पार्क में फैक्ट्रियों की स्थापना का काम जारी है।

हमारी जानकारी के अनुसार कंपनी के द्वारा अधिक भूमि की मांग की जा रही है।

अगर बात करें इस क्षेत्र में निवेश की तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रथम चरण में केयान इंडस्ट्रीज के द्वारा 702 करोड़ रुपए का निवेश किया गया है एवं इस फैक्ट्री के लिए पर्यावरण स्वीकृति भी मिल चुकी है । जानकारों की माने तो इससे लगभग 1000 से भी अधिक लोगों को रोजगार मिल सकता है। अगले नंबर पर आती है सी पी मिल्क इंडस्ट्री, इनकी तरफ से लगभग 100 करोड से भी अधिक का निवेश किया जा रहा है। इसके अलावा जिन कंपनियों द्वारा निवेश किया जाने वाला है उनमें क्वार्ट्ज ओपलवेयर प्राइवेट लिमिटेड, तत्वा प्लास्टिक एवं आदित्य मोटर्स के नाम शामिल है बताया जा रहा है कि इन कंपनियों द्वारा भी बड़ा निवेश किया जाने वाला है । अगर बात करें काम की तो इन सभी के द्वारा काम की शुरुआत की जा चुकी है।

 

# किन सुविधाओं को किया जा रहा विकसित___

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गीडा के द्वारा इस क्षेत्र में जो विकास कार्य करवाए जा रहे हैं उनमें सड़कों का चौड़ीकरण, नाली व पुलिया का निर्माण एवं बिजली की जरूरतों को पूरा करने हेतु 33 के वी विद्युत सब स्टेशन के निर्माण कार्य का नाम शामिल किया गया है। सड़कों के चौड़ीकरण कार्य के तहत 30 मीटर, 24 मीटर एवं 18 मीटर की सड़कों का निर्माण करवाया जा रहा है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि वर्षा के बाद इन सड़कों का काम पूर्ण हो जाएगा।

 

# जानिए कब से शुरू होगी भूमि की आवंटन की प्रक्रिया___

भीटी रावत में ही विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 50 एकड़ से अधिक भूखंड के आवंटन की तैयारी हो चुकी है। नवरात्र से आवेदन किया जा सकेगा। करीब 50 से 60 भूखंडों के लिए आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे। औद्योगिक इकाईयों को स्थापित करने के लिए मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। भीटी रावत में विकास से जुड़े कार्य लगभग पूरे किए जा चुके हैं और उद्यमियों ने इकाई लगाना भी शुरू कर दिया है। हमारा लक्ष्य है कि मूलभूत सुविधाओं को विकसित करने के बाद ही भूखंड पर कब्जा दें। नवरात्र में 50 से अधिक भूखंडों के लिए आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे।

– पवन अग्रवाल, सीईओ गीडा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.