Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

सावधान-कानपुर 9वी के छात्र को ऑनलाइन गेम खेलना पड़ा महंगा, पिता के अकाउंट से गवाए पांच लाख रूपये, हो जाये सावधान नहीं तो आप भी हो सकते है शिकार

कानपुर के एक लड़के को ऑनलाइन गेम खेलना पड़ा बहुत महंगा। छात्र ने अपने पिता के अकाउंट से 5 लाख रूपये ऑनलाइन गेम को अनलॉक करवाने के लिए गवा दिया। दरअसल मामला यह है कि कानपुर के नवाबगंज के 9वी में पढ़ने वाला एक छात्र अपने पिता के अकाउंट से 5 गंवा दिया है। नवाबगंज में रहने वाला यह छात्र फ्री फायर गेम ऑनलाइन खेलता था वह छात्र गेम में लेवल 2 दो-तीन सप्ताह पहले पार कर लिया,जिसके बाद उसका गेम लॉक हो गया था। जैसे हमें कुछ सीखना होता है तो हम गूगल या यूट्यूब कर लेते हैं।

ठीक वैसे ही छात्र का जब गेम लॉक हो गया तो छात्र ने यूट्यूब पर कुछ वीडियो देखा और एक वीडियो के माध्यम से उसे एक हेल्पलाइन नंबर मिल गया। हेल्पलाइन नंबर पर जब छात्र ने कॉल किया तो कॉल पर बात करने वाला आदमी ने बोला कि वह गेम ऑन लोग कर देगा। लेकिन इसके लिए ₹750 लगेगा। छात्र भी कहां मानने वाला था उसने अपने पिता के कहते से यह रकम ट्रांसफर कर दिया। छात्र फ्री फायर का इतना दीवाना था कि साइबर ठग के कहने पर एक के बाद एक ट्रांजैक्शन करके करीब 20 दिनों के अंदर पांच लाख रुपए का ट्रांजैक्शन कर दिया। इस तरह से साइबर ठग ने पांच लाखों रुपए की ठगी कर लिया।

छात्र ने जितनी बार पेमेंट किया था उतनी बार मैसेज आता था ।लेकिन सभी मैसेज को डिलीट कर देता था ताकि पिता को इसके बारे में पता ना चल सके। छात्र हर एक ट्रांजैक्शन का मैसेज डिलीट कर देता था और यही वजह है कि उसके पिता को इस बात पता नहीं चल पता था। जब यह मामला पिता को पता चला तो उसने अपने लड़के को डांट फटकार लगाया और उसके बाद पुलिस को सूचना दिया। फिलहाल जिस खाते से पैसे ट्रांसफर किए गए थे उस खाते को फ्रीज कर दिया गया है।

ऑनलाइन गेम से जुड़ी कुछ जरूरी बातें जो ध्यान रखें-

किसी भी गेम की लत न लगने दें
ऑनलाइन गेम में मांगे गए किसी भी रकम को ना दे
अभिभावक बच्चों की निगरानी जरूर करें, बच्चे को किसी भी गेम की लत न लगने दें
ऑनलाइन गूगल या यूट्यूब के माध्यम से मिले हेल्पलाइन नंबर पर बिना जांचे कॉल न करे
पैसों की लालच में आकर किसी भी लिंक पर क्लिक ना करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.