Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

सावधान-कानपुरवासी ध्यान दे, शहर में घूम रहा है तेंदुआ, कॉलेज के सीसीटीवी फुटेज में आया नजर

Kanpur latest news: कानपुर से एक ऐसी खबर आ रही है जिसे सुनकर लोगों में काफी दहशत बना हुआ है। दरअसल आपको बता दें कि कानपुर शहर में एक तेंदुआ को खुला घूमते हुए देखा गया है और इसी को लेकर शहरवासियों में दहशत का माहौल बना हुआ है। तेंदुए को वीएसएसडी कॉलेज के सीसीटीवी कैमरा में देखा गया है जिसके बाद वन विभाग की टीम अपने काम पर लग गई है। अनुमान है कि गंगा बैराज से सटे शहर क्षेत्र में तेंदुआ घूम रहा है लेकिन पक्की लोकेशन अभी नहीं पता चल पाया है। फिलहाल पुलिस और प्रशासन के द्वारा ड्रोन से क्षेत्रों की निगरानी किया जा रहा है।

आपको बता दें कि वीएसएसडी कॉलेज का गंगा की ओर बड़ा मैदान है शनिवार की रात कॉलेज कैंपस में एक तेंदुआ घुस आया जिसकी सूचना पुलिस को दिया गया। जब तक पुलिस और वन विभाग की टीम पहुंची तब तक तेंदुआ कहीं और निकल चुका था। कॉलेज की सीसीटीवी फुटेज को जब वन विभाग की टीम ने चेक किया तो उसमें तेंदुआ घूमते हुए दिखाई दिया। बहुत ही घनी बस्ती वाला इलाका नवाबगंज का है जहां बड़ी संख्या में आबादी रहती है। लोगों को जब तेंदुआ के आने की जानकारी मिली तो लोगों में दहशत का माहौल बन गया है। खासकर गंगा किनारे बने मकानों में रहने वाले क्षेत्र के लोग डरे हुए हैं। वन विभाग की टीम तेंदुए के पैरों के निशान से पता लगाने की कोशिश कर रही है।

वन विभाग की टीम और अफसरों के द्वारा यह आशंका जताया जा रहा है कि कॉलेज कैंपस में एक नाला है जो गंगा किनारे तक जाता है। हो सकता है कि तेंदुआ इसी रास्ते से आया होगा और फिर इसी रास्ते से निकल गया होगा। वन विभाग की टीम और पुलिस के द्वारा ड्रोन से निगरानी किया जा रहा है। एक पिंजड़ा कॉलेज कैंपस में लगाया गया है ताकि दोबारा अगर तेंदुआ आता है तो उसे पकड़ा जा सके। जानकारी के अनुसार फोर्स की तैनाती आसपास के क्षेत्र में कर दी गई है और काबिंग भी वन विभाग की टीम के द्वारा की जा रही है। मोहम्मद नासिर जोकि कानपुर जु के चिकित्सक हैं और इनके बताने के अनुसार तेंदुआ एडल्ट है। तेंदुए के आबादी क्षेत्रों में घुस सके इसके लिए इंतजाम किया जा रहा है। डीएफओ अरविंद यादव के अनुसार पहले सामान्य तरीके से तेंदुए को पकड़ने की कोशिश किया जाएगा अगर तेंदुआ नहीं पकड़ा गया तो उसके बाद ट्रेंकुलाइज किया जाएगा जिसकी अनुमति शासन के अफसरों से लिया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.