Saturday, October 1UAM - UDYAM-BR-13-0006027

रेलवे ने बदला गार्ड का पदनाम, क्योंकि इनका काम सिर्फ़ हरी झंडी दिखाना नही है, जानिए नए बदलाव

भारत के कई रेलवे स्टेशनों के नाम में बदलाव किए जा चुके हैं और आगे भी करने की योजना है । इसी कड़ी में रेलवे द्वारा एक और कदम उठाया गया है। जिसके तहत रेलवे के कर्मचारियों के पदनाम में भी बदलाव किए जाने की योजना है या यूं कहें कि बदले जा चुके हैं। अब गार्ड के पद पर तैनात कर्मचारी को ट्रेन मैनेजर का पदनाम मिला है। पदनामों में बदलाव को लेकर कर्मचारियों द्वारा वर्ष 2004 से ही इसकी मांग की जा रही थी।

 

कर्मचारियों के मुताबिक गार्ड का काम सिर्फ हरी झंडी एवं टॉर्च दिखाना नहीं होता, ट्रेनों में यात्रियों की जरूरतों को पूरा करने के साथ ही पार्सल सामग्री का निष्पादन, यात्रियों की सुरक्षा और ट्रेन की देखरेख भी गार्ड की जिम्मेदारियों में शामिल होता है। इसलिए रेलवे द्वारा भी इनकी मांगों को वाजिब मानते हुए स्वीकार कर लिया गया है । यहां आपको बता दें कि भागलपुर रेलवे के सभी 45 गार्ड की पहचान अब ट्रेन मैनेजर के तौर पर होने लगी है।

 

# स्टेशन मास्टर के भी पदनाम में हुआ बदलाव।

बताया जा रहा है कि गार्ड की तरह स्टेशन मास्टर के पदनाम को बदलकर स्टेशन प्रबंधक करने की योजना बनाई जा रही है। इनके बक्से में भी इनके नाम के साथ पद के रूप में ट्रेन मैनेजर लिखा जाने लगा है । भागलपुर से रवाना होनेवाली विक्रमशिला एक्सप्रेस, एलटीटी एक्सप्रेस, गरीब रथ, वनांचल एक्सप्रेस, रांची एक्सप्रेस, जनसेवा एक्सप्रेस सहित लोकल पैसेंजर के अलावे गुडस ट्रेन में अपनी जिम्मेवारी निभा रहे हैं । रेलवे के अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार रेलवे कर्मचारियों के पद नाम बदले गए हैं जिम्मेदारियां नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.