Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

यूपी में सरकारी ज़मीन ख़रीदने का सुनहरा अवसर, किस्त नही देने वालों की ज़मीन हो रही नीलाम

लखनऊ :- विगत 22 जुलाई को आवास विकास परिषद उत्तर प्रदेश द्वारा नीलामी के बाद एक बार फिर से परिषद ने अपने खाली पड़े भूखंडों को नीलाम करने के लिए ब्यौरा एकत्रित करना शुरू कर दिया है। इन भूखंडों में ज्यादातर वैसे भूखंड शामिल है, जिनके आवंटीयों ने पंजीकरण तो करा लिया पर कुछ किस्त देने के बाद, आगे की किस्ते नहीं दे रहे। ऐसे ही कुछ भूखंडों का आवंटन निरस्त करने पर भी परिषद विचार करने की योजना बना सकता है। क्योंकि आवास विकास परिषद को इससे हर माह लाखों के राजस्व का नुकसान हो रहा है। नीलामी के वजह से मूल कीमतों से काफी अच्छी कीमत आती है, जिससे नुकसान की कुछ हद तक भरपाई हो सकती है। नीलाम होने वाले भूखंडों में परिषद ने सेक्टर 16a, सेक्टर 10c, सेक्टर 14 के खाली पड़े भूखंडों का नाम शामिल किया है।

 

उप आवास आयुक्त प्रफुल्ल त्रिपाठी से हुई बातचीत के अनुसार जिन भूखंडों का ब्योरा खंगलवाने का काम चल रहा है उनमें भूखंड संख्या 16ए/95, 16ए/97, 16ए/98, 16ए/99, 16ए/100, 16ए/435/1, 14/242, 14/245, 10सी/186 के अलावा अन्य सेक्टर में खाली पड़े भूखंडों का नाम शामिल है। परिषद का प्रयास यह है कि जितने भी खाले पड़े भूखंड है उन्हें बेच दिया जाए। जिसके लिए भूखंड व अन्य संपत्ति निकालने का कार्य मुख्य नगर नियोजन के अफसरों के साथ बैठक आयोजित कर के किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि पिछले माह की तरह इस माह भी भूखंडों की नीलामी और व्यावसायिक संपत्तियों की नीलामी का क्रम अलग-अलग तिथियों में होगा।

 

बता दें कि आवास विकास की वृंदावन कालोनी आवासीय परिसर के मामले में अच्छी कालोनियों में शामिल है, क्योंकि पर्यावरण अभी नियंत्रित है और सड़के चौड़ी होने के कारण जाम जैसी यहां कोई बात नहीं है। चिकित्सा सुविधा के नाम पर एसजीपीआइ, एसजीपीजीआइ का ट्रामा सेंटर, कैंसर संस्थान और मेदांता जैसे अस्पताल यहां काफी नजदीक हैं। अफसरों ने बताया कि जल्द ही गोसाइगंज स्थित एक नई टाउनशिप योजना को लांच करने की तैयारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.