Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

यूपी-दिल्ली के बिच जल्द शुरू होगी हाईटेक रैपिड रेल सेवा, 55 मिनट में तय होगा दिल्ली का सफर,180KM की रफ़्तार से दौड़ेंगी ट्रेने

उत्तर प्रदेश के मेरठ और दिल्ली के बीच जल्द ही रैपिड रेल सेवा शुरू हो जाएगी। बता दे की अगले साल से दिल्ली और मेरठ के बिच रैपिड रेल सेवा शुरू होने वाली है जिसके बाद दिल्ली से मेरठ का सफर सिर्फ 55 मिनट में तय किया जा सकेगा । रैपिड रेल का परिचालन से पहले दिल्ली से मेरठ के बीच चलने वाली रैपिड रेल का ट्रायल नवंबर महीने में होने वाला है वही उसके बाद संबंधित विभाग से अनुमति मिलने के बाद परिचालन सुचारू रूप से शुरू कर दिया जाएगा। बता दें कि रैपिड रेल सेवा का परिचालन पहले चरण में मार्च से पहले शुरू किया जाएगा।

आपको बता दें कि दिल्ली और मेरठ के बीच की 82 किलोमीटर कुल दूरी पर अगले साल रैपिड रेल सेवा शुरू करने की योजना है। वही कॉरिडोर 17 किलोमीटर लंबी प्रथमिक तक खंड साहिबाबाद से दुहाई के बीच रैपिड रेल का परिचालन मार्च 2023 से शुरू करने की समय सीमा तय की गई है जिसके लिए इसी साल के नवंबर महीने में ट्रायल शुरू किया जाएगा जबकि पूरी तरह से रैपिड रेल सेवा का परिचालन 2025 तक करने का लक्ष्य रखा गया है।

हर ट्रेन में 6 कोच होंगे, एक साथ 400 यात्री कर सकेंगे सफर

उत्तर प्रदेश के मेरठ और दिल्ली के बीच चलने वाली हर रैपिड ट्रेन में 6 कोच होंगे, एक कोच में 75 यात्री बैठकर सफर कर सकेंगे और अधिकतम 400 यात्री पूरे ट्रेन में सफर कर पाएंगे । ट्रेन में एक कोच महिलाओं के लिए आरक्षित रहेगा। रैपिड रेल के स्पीड की बात करें तो इसकी रफ्तार औसतन 100 किलोमीटर प्रति घंटा जबकि अधिकतम 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकेगी। मिली जानकारी के अनुसार 180 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ने रैपिड ट्रेन दिल्ली से मेरठ के बीच का सफर 55 मिनट में तय कर सकेगी।

रिपोर्ट के अनुसार चलने वाली रैपिड रेल ट्रेन में एक बिजनेस कोच भी रहेगा इस कोच में अतिरिक्त सुविधाएं भी दी जाएंगी। कोच में खान-पान का सामान उपलब्ध रहेगा, 82 किलोमीटर लंबे सफर में यात्री चाय के साथ साथ खाने का भी आनंद ले सकेंगे। रैपिड रेल के हर ट्रेन के भीतर प्रीमियम कोच में दरवाजे भी लगे रहेंगे इससे फायदा यह होगा कि स्टैंडर्ड कोच के यात्री इस श्रेणी के दूसरे कोच में आ जा सकेंगे लेकिन प्रीमियम कोच में प्रवेश नहीं मिलेगा। बिजनेस क्लास में कोच में दाएं बाएं 2- 2 सीट बैठने के लिए उपलब्ध रहेंगी।

मोबाइल चार्ज और वाईफाई की मिलेगी सुविधा-फास्ट स्पीड में दौड़ने वाली रैपिड रेल ट्रेन में कई आधुनिक सुविधाओं से लैस रहेगी। यात्रियों को ट्रेन में सफर के दौरान वाईफाई की सुविधा मिलेगी यही नहीं ट्रेन के कोचों में सीट के पास ही मोबाइल चार्ज करने की भी सुविधा रहेगी।

आठ लाख यात्री रोज कर सकेंगे सफर –आपको बता दें कि दिल्ली और मेरठ के बीच बड़ी संख्या में लोग रोजाना दिल्ली आते और जाते रहते हैं ,बता दें कि नोएडा, गाजियाबाद और दिल्ली में हजारो की संख्या में काम करते हैं जिनके घर मेरठ गाजियाबाद में है जिसके वजह से वह रोज घर से आना जाना पसंद करते हैं। इस वजह से दिल्ली मेरठ के बीच ट्रेन 5 से 10 मिनट के बीच मिलेंगी। रैपिड रेल सेवा शुरू होने के बाद दिल्ली मेरठ के बीच की दूरी 55 मिनट में सिमट जाएगी और लगभग 8 लाख यात्री रोजाना रैपिड रेल से यात्रा कर पाएंगे।

यात्री खुद से कर सकेंगे टिकट-यात्रियों को सुविधा के लिए एक ऐप तैयार किया जा रहा है जिससे यात्री खुद से ही अपना टिकट जनरेट कर लेंगे। यात्रियों को अपने मोबाइल में इस ऐप को खोलना होगा और कहां से कहां जाना है यह डिटेल डालते हैं स्क्रीन पर किराए के बारे में जानकारी उपलब्ध हो जाएगी। वहीं इसके बाद पेटीएम या अन्य किसी माध्यम से भुगतान किया जा सकेगा और उसके बाद मोबाइल पर ही क्यू आर कोड सहित ई टिकट आ जाएगा।

स्मार्ट कार्ड से कर सकेंगे सफर-दिल्ली और मेरठ के बीच चलने वाली रैपिड रेल के लिए कुल 25 स्टेशन होंगे, हर एक रैपिड मेट्रो स्टेशन पर टिकट वेंडिंग मशीन की सुविधा उपलब्ध रहेगी। दिल्ली और मेरठ के बीच चलने वाली रैपिड रेल ट्रेन अत्याधुनिक सेवाओं से लैस रहेगी, ट्रेन में यात्री स्मार्ट कार्ड से भी सफर कर सकेंगे, स्मार्ट कार्ड से ज्यादातर लोग सफर करना चाहेंगे क्योंकि लोगों को काउंटर टिकट की लाइन में लगने की जरूरत नहीं पड़ेगी। यात्रियों को नगद पैसे भी रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इससे लोगों का समय भी बचेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.