Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

युपी का पहला जलाशय पर तैरता सोलर संयत्र बनकर हुवा तैयार, 3 रुपए प्रति यूनिट पड़ेगी बिजली, जानिए पूरी

उत्तर प्रदेश वासियों के लिए एक अच्छी खबर आ रही है बता दें कि उत्तर प्रदेश का पहला तैरते सोलर संयंत्र से विद्युत उत्पादन शुरू हो गया है और इससे बिजली भी सस्ती पड़ेगी। आइए इसके बारे में हम विस्तार से जानते हैं। आपको बता दें कि औरैया के दिबियापुर में एनटीपीसी में जलाशय पर तैरने वाला 20 मेगा वाट सोलर संयंत्र से बिजली का उत्पादन बीते दिन गुरुवार से शुरू हो चुका है। इससे उत्पादित बिजली ग्रिड को आपूर्ति की गई है। इसके शुरू होने से औरैया संयंत्र की अब कुल क्षमता 704 मेगावाट हो गया है अधिकारियों का कहना है कि व्यवसाय क्षेत्र में इससे सस्ती बिजली मुहैया होगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एनटीपीसी के अपर महाप्रबंधक के अनुसार यह उत्तर प्रदेश का यह पहला तैरता सोलर संयंत्र है लेकिन वही एनटीपीसी अब तक चार राज्यों में जैसे तेलंगाना के रामागुंडम, केरल के कायमकुलम, गुजरात के कवास और आंध्र प्रदेश के सोमाद्री में जलाशय पर सोलर संयंत्र लगा चुका है।

एनटीपीसी ने 2019 में निविदा आमंत्रित किया था, 500 वाट क्षमता के सोलर पैनलो का हुवा प्रयोग 

आपको बता दें कि औरैया मे तैरता( फ्लोटिंग) सोलर संयंत्र को लेकर सितंबर 2019 में एनटीपीसी ने निविदा आमंत्रित किया था वही निविदा पाने वाली कंपनी ने जून 2020 में सोलर संयंत्र का काम शुरू किया। अगस्त 2022 में सोलर प्लांट लग कर तैयार हो चुका था। दिबियापुर स्थित एनटीपीसी में लगभग 90 एकड़ क्षेत्र में फैले पूरे तालाब में पैनल नहीं लगाए जा सकते थे और तालाब का निर्धारित हीस्सा छोड़ना पड़ा। जिसकी वजह से 500 वाट क्षमता के सोलर पैनलो का प्रयोग हुआ। इसकी कुल लागत 90 करोड़ रुपए है।

3.02 रुपए प्रति यूनिट पड़ेगी बिजली
एनटीपीसी के अधिकारियों की माने तो गैस और नेफ्ता आधारित संयंत्रों से उत्पादित बिजली ₹5 से लेकर ₹20 प्रति यूनिट पड़ती है लेकिन वही सोलर से उत्पादित बिजली 3.02 रुपए प्रति यूनिट पड़ेगी। काल्पनिक फोटो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.