Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

बिहार में काँवरियो के लिए मोबाइल ऐप लाँच, जिससे सेकेंडो में मिलेंगी ये जानकारी और सुविधाए

जैसा कि हम सब जानते हैं कि सावन के महीने में आयोजित होने वाले श्रावणी मेले का आनंद उठाने के लिए भारत के कोने-कोने से लोग आते हैं।  जिसकी वजह से इस मेले में लोगों की भीड़ जमा हो जाती है, ऐसी स्थिति में वह लोग जो पहले से इस मेले से अवगत हैं, उन्हें तो कुछ खास दिक्कत नहीं होती पर जो पहली बार आए होते हैं, उन लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है,

 

बस इसी दिक्कत को दूर करने के लिए बिहार सरकार के पर्यटन विभाग ने इसके लिए विशेष मोबाइल ऐप तैयार किया है। जिसकी वजह से श्रावणी मेले से जुड़ी हर छोटी-बड़ी जानकारी लोगों को एक क्लिक पर मिल सकेगी। विभागीय अधिकारियों के अनुसार जल्द ही इस मोबाइल ऐप को लांच किया जाएगा। इसमें श्रावणी मेले में बनाई गई टेंट सिटी में खाली जगह, मेडिकल कैंप, शौचालय,  पेयजल इत्यादि की व्यवस्था की अपडेटेड जानकारी मिलती रहेगी।

 

# 500 लोगों के सोने के लिए बनाई जा रही टेंट सिटी 

सावन महीने में कांवरियों के लिए आयोजित होने वाले श्रावणी मेले को लेकर पर्यटन विभाग ने इस बार विशेष तैयारियां की हैं। मुख्य सचिव की अध्यक्षता में तैयारियों को लेकर बैठक भी हो चुकी है। बांका के अबरखा में 500 व्यक्तियों के सोने के लिए टेंट सिटी बनाई जा रही है। टेंट सिटी की निगरानी सीसीटीवी कैमरे से होगी। इसमें महिला एवं पुरुषों के लिए अलग-अलग 50 शौचालय व स्नानगृह की व्यवस्था होगी।

 

# वीआइपी लाउंज भी बना रहा है प्रशासन 

वीआइपी लाउंज भी बनाया जाएगा, जहां 24 घंटे निर्बाध विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था होगी। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए अजगैबीनाथ भागलपुर, मोजमा मुंगेर, जिलेबिया बांका, लुलहा शिवलोक, तांनकेश्वर, सुईयां समेत 16 स्थानों पर आवश्यक मार्गीय सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

 

# प्रत्येक दिन आयोजित होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम।

आपको बता दें कि श्रावणी मेला 30 दिनों के लिए आयोजित होता है । सुनने में आ रहा है कि इस बार श्रावणी मेले में प्रत्येक दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे व एक मंच भी तैयार किया जाएगा। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए स्थानीय कलाकारों के साथ साथ प्रसिद्ध कलाकारों को भी आमंत्रित किया जाएगा। बताया जा रहा है कि यात्रा की शुरुआती स्थल सुल्तानगंज में तीन से चार बड़ी एलईडी स्क्रीन भी लगाई जाएगी । इतना ही नहीं कावड़िया परिपथ में 50 स्थानों पर स्वागत द्वार भी बनाए जाएंगे।

 

# रास्‍ते में होगी 20 चलंत शौचालय की व्‍यवस्‍था

श्रद्धालुओं के लिए रास्ते में 20 चलंत शौचालय की भी व्यवस्था होगी। झारखंड की सीमा तक 11 पर्यटन सूचना केंद्र होंगे। इसमें सुल्तानगंज रेलवे स्टेशन, सुल्तानगंज बस स्टैंड, सुल्तानगंज घाट, घांडी बेलारी, कुमारसार, धौरी, सुईया, अबरखा, कटोरिया, इनरावरण और डुम्मा में सूचना केंद्र बनाए जाएंगे। इन केंद्रों पर दो कर्मी 24 घंटे तैनात रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.