Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

बिहार के 9 रेलवे स्टेशनो को एयरपोर्ट की तरह बनाने है तैयारी, मिलेगी विश्वस्तरीय सुविधा, जानिए स्टेशनो की लिस्ट

यात्रियों को विश्वस्तरीय रेल सेवा प्रदान करने को लेकर रेलवे ने 12 स्टेशनों को विश्वस्तरीय बनाने का फैसला किया है। बता दें कि स्टेशन पुनर्विकास योजना के अंतर्गत पूर्व मध्य रेलवे के 12 स्टेशनों का चुनाव किया गया है। विश्वस्तरीय स्टेशन के रूप में विकसित करने के लिए सोनपुर मंडल के मुजफ्फरपुर, बेगूसराय व बरौनी, समस्तीपुर मंडल के दरभंगा, सीतामढ़ी, बापूधाम मोतिहारी, दानापुर मंडल राजेंद्र नगर एवं बक्सर, पंडित दीनदयाल उपाध्याय मंडल के गाया एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन और धनबाद मंडल के धनबाद एवं सिंगरौली को चिन्हित किया गया है।

वर्ष 2024 तक रखा गया लक्ष्य-

आपको बता दें कि चिन्हित किए गए सभी स्टेशनों के पुनर्विकास की प्रक्रिया शुरू हो गई है इन्हें 2024 के अंत तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। कार्य पूरा होने के उपरांत यात्रियों को एयरपोर्ट जैसी विश्वस्तरीय सुविधाएं देखने को मिलेंगी और उसका लाभ यात्रियों को मिलेगा।

400 करोड़ की धनराशि से मुजफ्फरपुर जंक्शन का होगा निर्माण-

बता दें कि मुजफ्फरपुर स्टेशन पुनर्विकास हो जाने के बाद यात्रियों को सुविधा, स्थानीय संस्कृति और समृद्ध विरासत का आकर्षक मेल बनाया जाएगा। पुनर्विकास के बाद स्टेशन की क्षमता 3 गुना बढ़ जाएगी वही यात्रियों की संख्या में वृद्धि होगी और रोजगार का भी अवसर बढ़ेगा। आने वाले 2 सालों तक इसकी संरचना देखने को मिलने लगेंगे जबकि निर्माण कार्य पूरा करने के लिए 2024 तक का लक्ष्य तय हुआ है।

एक्सेस कंट्रोल गेट का प्रावधान स्टेशनों पर होगा-

इसका मुख्य उद्देश्य सुरक्षा, बेहतर अनुभव और विश्वस्तरीय सुविधा यात्रियों को देना है स्टेशनों पर एक्सेस कंट्रोल गेट और प्रत्येक प्लेटफार्म पर एस्केलेटर एवं लिफ्ट लगाए जाएंगे। स्टेशनों पर खानपान, वॉशरूम, पीने का पानी, एटीएम इंटरनेट आदि की सुविधा मिलेंगे। इससे आम यात्रियों के साथ साथ वरिष्ठ यात्रियों को भी इस सुविधा का लाभ मिलेगा।

आगमन और प्रस्थान के लिए उत्तम व्यवस्था-

पुनर्विकास के बाद यात्रियों को स्टेशन पर आगमन और प्रस्थान के लिए अलग-अलग व्यवस्था के तहत आगमन एवं प्रस्थान भवन का निर्माण को लेकर अलग भवन का निर्माण होगा। यात्रियों को स्टेशन पर भीड़ भाड़ का सामना ना करना पड़े इसको देखते हुए इसके लिए स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार बनाए जाएंगे। यही नहीं मुख्य स्टेशन भवन के लिए वर्तमान की अपेक्षा लगभग ढाई गुना अधिक जगह तथा पार्किंग एरिया के लिए 4 गुना से अधिक जगह उपलब्ध रहेंगे।

स्टेशन भवन पर लगाए जाएंगे सोलर पैनल-

आपको बता दें कि टिकटिंग सुविधा,दिव्यांश सुविधा, ग्रीन ऊर्जा को लेकर स्टेशन भावना पर सोलर पैनल का का सुविधा, रेन वाटर हार्वेस्टिंग वॉटर रीसाइकलिंग प्लांट, ठोस अशिष्ट प्रबंधन और अग्निशमन आदि सुविधा की व्यवस्था रहेगी। पाठकों को बता दें कि यह सारी जानकारी पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ ने दिया है

Leave a Reply

Your email address will not be published.