Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

बिहार के बिजली उपभोक्ताओ के लिए ज़रूरी सूचना, पाँच ज़िले में 26 लाख स्मार्ट मीटर लगना शुरू

बिहार के ग्रामीण इलाकों में जल्द ही स्मार्ट प्रीपेड लगाया जाएगा।इसके तहत उत्तर बिहार के पांच जिलों सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी चंपारण और पश्चिमी चंपारण के ग्रामीण इलाकों और मुजफ्फरपुर के ग्रामीण और शहरी इलाकों में स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जाएंगे। इन जिलों में 3० महीने के भीतर 26 लाख स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जाएंगे।

 

# 26 लाख प्रीपेड मीटर लगेंगे

अगले 3० महीनों में मुजफ्फरपुर समेत उत्तर बिहार के पांच जिलों में शहर से गांव तक 26 लाख स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जाएंगे, जिनमें से करीब 7 लाख मीटर सिर्फ मुजफ्फरपुर जिले में ही लगाए जाएंगे। इसके लिए नार्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड ने पटना में सिक्योर मीटर्स लिमिटेड कंपनी के साथ करार किया है। जिसके तहत उत्तर बिहार के मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी और पश्चिमी चंपारण में 26 लाख प्रीपेड मीटर लगाए जाएंगे।

 

# 8.29 लाख स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए गए

इस समझौते पर प्रमुख सचिव, ऊर्जा विभाग और बिहार स्टेट पावर (होल्डिंग) कंपनी लिमिटेड के सीएमडी संजीव हंस के सामने हस्ताक्षर किए गए। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में स्मार्ट मीटर के प्रति उपभोक्ताओं की प्रतिक्रिया काफी उत्साहजनक है। बिहार में अब तक 8.29 लाख स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जा चुके हैं। यह एजेंसी प्रीपेड मीटर लगाने के अलावा सिक्योर मीटर एनर्जी ऑडिट भी करेगी।

 

# दो फेज में बांटा गया

प्रीपेड मीटर लगाने के लिए बिहार को दो चरणों में बांटा गया है. पहले चरण में बिहार विभिन्न जिलों के शहरी क्षेत्र में 8 लाख मीटर से अधिक लगाकर देश में प्रथम स्थान पर है। इस समझौते के बाद दूसरे चरण की शुरुआत होगी। इन पांच जिलों के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में स्मार्ट मीटर लगाने के लिए सर्वे का काम शुरू कर दिया गया है, जिसके बाद जल्द ही मीटर लग जाएगा।

 

# मीटर स्थापना के कुशल प्रबंधन के निर्देश

इससे पहले 13 मई को भागलपुर शहर, बांका, जमुई, शेखपुरा जैसे दक्षिण बिहार के कई जिलों के ग्रामीण इलाकों में दस लाख स्मार्ट मीटर लगाने के लिए जीनस पावर के साथ करार किया गया था। विद्युत एमडी प्रभाकर, मीटरिंग एजेंसी के पदाधिकारी एवं वरिष्ठ प्रोटोकॉल अधिकारी ख्वाजा जमाल को ग्रामीण क्षेत्रों में स्मार्ट प्रीपेड मीटर और मीटरों के कुशल प्रबंधन के बारे में उपभोक्ताओं में जागरूकता पैदा करने के निर्देश दिए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.