Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

बिहार के दो बड़े क्षेत्रों की आपसी दूरी 60 KM घटेगी, बनकर तैयार होगा शानदार गंगा फ़ोरलेन ब्रिज

गंगा नदी पर बख्तियारपुर-ताजपुर फोरलेन पुल का निर्माण 2024 तक पूरा होने की संभावना है। इसका आधा काम हो चुका है। फिलहाल इस मामले में बिहार राज्य पथ विकास निगम निर्माण एजेंसी और बैंक के बीच समझौते के लिए हाइकोर्ट के आदेश का इंतजार है। इसकी सुनवाई 29 जुलाई को है।

 

गंगा नदी पर बख्तियारपुर-ताजपुर फोर लेन पुल का निर्माण 2024 तक पूरा होने की उम्मीद है। आधा काम हो चुका है। फिलहाल मामला बिहार राज्य सड़क विकास निगम निर्माण एजेंसी और बैंक के बीच समझौते के लिए हाईकोर्ट के आदेश का इंतजार कर रहा है। सुनवाई 29 जुलाई से शुरू होगी।

 

# बारिश के बाद फिर शुरू होगा काम

कोर्ट के आदेश और तीनों पक्षों की सहमति के बाद बारिश के बाद काम फिर से शुरू होगा। मंत्रिपरिषद ने मौजूदा वित्तीय संकट से निपटने के लिए 935 करोड़ रुपये देने का फैसला किया था। इसके अलावा, निर्माण एजेंसी पर पहले से ही 474 करोड़ रुपये का बैंक ऋण है।

 

# निर्माण एजेंसी की आर्थिक स्थिति खराब हो गई थी

इस परियोजना के लिए निर्माण एजेंसी की वित्तीय स्थिति खराब हो गई थी। बैंक ने उनकी आर्थिक मदद करने से इनकार कर दिया था। बाद में सड़क निर्माण विभाग की पुनरूद्धार नीति के तहत परियोजना को पूरा करने का निर्णय लिया गया। पुल के शेष कार्य के लिए 1187 करोड़ रुपये की आवश्यकता है। इसमें से राज्य सरकार ने करीब 935 करोड़ रुपये की सहायता देने का फैसला किया है।

 

# दूरी कम होगी

दक्षिण बिहार से उत्तर बिहार की दूरी घटकर 60 किमी हो जाएगी।इस पुल के बनने से नवादा, मुंगेर या नालंदा से ट्रेनों को उत्तर बिहार पहुंचने के लिए पटना नहीं पहुंचना पड़ेगा। ऐसे में दक्षिण बिहार से उत्तरी बिहार की दूरी घटकर करीब 60 किलोमीटर रह जाएगी। वहीं जेपी सेतु, महात्मा गांधी सेतु और राजेंद्र सेतु पर वाहनों का दबाव कम होगा।

 

# पुल का निर्माण 2011 में शुरू हुआ था

बख्तियारपुर-ताजपुर चार लेन पुल का निर्माण 2011 में लगभग 1602.74 करोड़ रुपये की लागत से शुरू किया गया था। सार्वजनिक-निजी-साझेदारी (पीपीपी) मॉडल के तहत शुरू किया गया यह प्रोजेक्ट 2016 में पूरा होना था, लेकिन जमीन अधिग्रहण और फिर एजेंसी की आर्थिक स्थिति के चलते प्रोजेक्ट समय पर पूरा नहीं हो सका। अब इसकी अनुमानित लागत करीब 2,875 करोड़ रुपये हो गई है। इस परियोजना में बनने वाले पुल की लंबाई करीब 5.5 किमी और पहुंच की लंबाई करीब 45.39 किमी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.