Friday, September 23UAM - UDYAM-BR-13-0006027

बड़ी ख़ुशख़बरी : गोरखपुर में 10 हज़ार लोगों को मिलेगा रोज़गार, इन नए फ़ैक्ट्रीयो को मिली मंज़ूरी

योगी आदित्यनाथ के दोबारा उत्तर प्रदेश के सीएम बनने के बाद गोरखपुर का चेहरा बदलने लगा है। लंबे इंतजार के बाद गोरखपुर में प्लास्टिक पार्क और फ्लैट फैक्ट्री को हरी झंडी मिल गई। इसमें 10 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। योगी आदित्यनाथ के लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री बनने से उद्यमियों का गोरखपुर में निवेश के प्रति विश्वास बढ़ा है। गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (जीआईडीए) में भी सुविधाएं बढ़ी हैं।

 

राज्य सरकार के कार्यकाल के पहले 100 दिनों में गिदा के नाम कई उपलब्धियां दर्ज की गई हैं। प्लास्टिक पार्क और फ्लैट फैक्ट्री को केंद्र सरकार से अंतिम मंजूरी मिल गई है और औद्योगिक इकाइयां स्थापित करने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। इन दोनों योजनाओं के शुरू होने से करीब 10 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। प्लास्टिक पार्क में ही करीब सात हजार लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

 

# गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे पर बनेगा प्लास्टिक पार्क

गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे पर 88 एकड़ में प्लास्टिक पार्क का निर्माण होगा। इस पर करीब 70 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इस परियोजना को केंद्र सरकार के रसायन और पेट्रो रसायन विभाग ने अप्रैल महीने में ही मंजूरी दे दी थी। यहां 90 से अधिक औद्योगिक इकाइयां स्थापित की जाएंगी। कच्चे माल के लिए गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड को अनुबंधित किया जाएगा। इस कंपनी को गिडा में मुफ्त जमीन दी जाएगी, जहां कच्चा माल जमा किया जा सकेगा। फ्लैट फैक्ट्री के निर्माण की भी अनुमति दे दी गई है। इसके स्ट्रक्चरल डिजाइन के लिए भी आवेदन मांगे गए हैं।

 

# छोटे उद्यमियों को बहुमंजिला भवन में सुविधा कक्ष उपलब्ध कराए जाएंगे

इस बहुमंजिला इमारत में छोटे उद्यमियों को सुविधाजनक हॉल उपलब्ध कराया जाएगा। जिस उद्यमी को हॉल आवंटित किया जाएगा, वह कम पूंजी में उत्पादन शुरू कर सकेगा। फ्लैट फैक्ट्री में तीन हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा और इससे वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट (ओडीओपी) में शामिल रेडीमेड गारमेंट्स को बढ़ावा देने में भी आसानी होगी। राज्य सरकार के दूसरे कार्यकाल में गीडा ने उद्यमियों को 25 एकड़ जमीन आवंटित करने का लक्ष्य रखा था, वह भी पूरा हो गया है। 20 एकड़ जमीन क्यान डिस्टिलरीज को और पांच एकड़ सीपी मिल्क को दी गई है, जो डेयरी उत्पाद बनाती है। इसके साथ ही अन्य इकाइयों की स्थापना के लिए भी भूमि आवंटित की गई है।

 

# आईटी पार्क, गारमेंट पार्क खुलेंगे रोजगार के दरवाजे

गिडा में आईटी पार्क की स्थापना का काम भी चल रहा है। दिसंबर माह तक इसे पूरा कर लिया जाएगा। आईटी कंपनियों को यहां लाने के लिए बैंगलोर, चेन्नई, हैदराबाद जैसे बड़े शहरों में रोड शो डिजाइन किए गए हैं।

 

# 1950 करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव मिला

राज्य सरकार के तीसरे शिलान्यास समारोह में लगभग 1950 करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव प्राप्त हुआ है। यह प्रस्ताव 26 उद्यमियों ने दिया है और फैक्ट्रियां लगाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। इससे चार हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। विधानसभा चुनाव के दौरान इनमें से कई उद्यमी निवेश को लेकर असमंजस में थे, लेकिन जैसे ही योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में फिर से सरकार बनने की बात साफ हुई, उद्यमियों ने निवेश के लिए कदम बढ़ा दिए।

 

कई बड़े निवेशकों से जीडीए प्रबंधन की भी बात चल रही है। गीडा में राजकीय होटल प्रबंधन संस्थान की स्थापना के लिए भूमि उपलब्ध करा दी गई है। GIDA द्वारा निर्धारित 100 दिनों के लक्ष्य को प्राप्त कर लिया गया है। प्लास्टिक पार्क और फ्लैट फैक्ट्री को अनुमति दे दी गई है। गारमेंट पार्क में कई उद्यमियों को जमीन आवंटित की जा चुकी है। शिलान्यास समारोह में 1950 करोड़ से अधिक का प्रस्ताव प्राप्त हुआ है। अभी और बड़ी कंपनियां यहां आएंगी। पवन अग्रवाल, सीईओ जीआईडीए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.