Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

पीएम ने गंगा एक्सप्रेसवे का किया शिलान्यास, 594 किलोमीटर लंबा और 6 लेन का होगा, पीएम ने पिछली सरकार को लेकर कही बड़ी बात

गंगा एक्सप्रेसवे का शिलान्यास शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा किया गया है। यह एक्सप्रेसवे 594 किलोमीटर लंबा और 6 लेन का बनाया जाएगा। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 594 किलोमीटर लंबे गंगा एक्सप्रेस वे की लागत लगभग 36200 करोड रुपए है। जैसे कि आपको पता है कि गंगा एक्सप्रेसवे का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दिन शनिवार को किया और उन्होंने कहा कि किसानों और नौजवानों के लिए यह एक्सप्रेसवे वरदान साबित होगा। नरेंद्र मोदी ने विपक्षी दलों को भी काफी खूब खरी खोटी सुनाया है। विपक्षी दलों को निशाना साधते हुए कहा कि पहले के सरकार में शाम होते ही सड़कों पर कट्टे लहराया जाया करते थे।

उन्होंने आगे कहा कि व्यापारियों और कारोबारियों जब घर से बाहर निकलते थे तो घर वालों को चिंता होती थी यही नहीं दूसरे राज्यों में जाकर गरीब परिवार के लोग काम करते थे तो उनके घर वालों को यह डर रहता था कि उनके जमीन पर अवैध कब्जा ना हो जाए। नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछली सरकारों में कब कहां दंगा हो जाए कोई तय नहीं था लेकिन जब से योगी सरकार आई है उन्होंने साडे 4 साल में स्थितियों को सुधारने के लिए बहुत ही मेहनत किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए उन्होंने आगे कहा कि आज यूपी की जनता कह रही है कि यूपी+योगी बहुत है उपयोगी। उन्होंने आगे कहा कि कुछ विपक्षी दल को देश के विकास में बहुत ही दिक्कत हो रहा है इन लोगों को राम मंदिर, बाबा विश्वनाथ धाम, और गंगा की सफाई से बहुत ही दिक्कत है यही नहीं यह लोग भारतीय वैज्ञानिकों के द्वारा बनाया गया वैक्सीन पर भी ऊँगली उठाते हैं।

गंगा एक्सप्रेसवे से समाज में सभी को होगा लाभ:-
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक्सप्रेस वे को लेकर कहा कि यह एक्सप्रेसवे प्रदेश के विकास को गति और शक्ति बढ़ाने में मदद करेगा। इस एक्सप्रेस वे से मेट्रो ,वाटरवेज,डिफेंस कॉरिडोर, एयरपोर्ट को भी जोड़ा जाएगा, यही नहीं बिजली के तार बिछाने ,फाइबर ऑप्टिकल केबल लगाने में भी उपयोग किया जायेगा,गंगा एक्सप्रेसवे से हर समाज के तबके को फायदा मिलेगा। पीएम ने आगे कहा कि हरदोई शाहजहांपुर के लोगों को पहले रात में इमरजेंसीमें लखनऊ कानपुर दिल्ली जाना पड़ता था। अस्पताल और सड़क यहां नहीं थे लेकिन अब यहां पर अस्पताल भी है सड़क भी है। इसी को ही बोलते हैं दमदार काम, इमानदार काम पिछड़े लोग पिछड़ा समाज को सशक्त और विकास करना इस पर सरकार की प्राथमिकता है। सबका साथ सबका विकास।

Leave a Reply

Your email address will not be published.