Friday, September 30UAM - UDYAM-BR-13-0006027

गोरखपुर में ऑटो या ई-रिक्शा में सफ़र करने का नया नियम जारी, तय 19 रूटों को भी जानिए

गोरखपुर के लोगों के लिए एक खुशखबरी है, सुनने में आ रहा है कि गुरुवार को अपर आयुक्त प्रशासन ए के साइनी की अध्यक्षता में मंडलायुक्त सभागार में, ई-रिक्शा के लिए 19 रूटो का चयन किया गया, जिन पर 355 ई-रिक्शा का परिचालन शुरू किया जाएगा। इसके साथ-साथ ए के साइनी द्वारा रिक्शा चालकों के लिए दिशा-निर्देश भी जारी किए गए एवं यह भी बताया गया कि अगर चालकों द्वारा यातायात नियमों का पालन नहीं किया गया तो उन पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।

 

# क्या है यातायात के नए नियम__

जानकारों की माने तो नई व्यवस्था के तहत उन चालकों पर कार्यवाही की जाएगी, जो बिना निर्धारित रूट व लाइसेंस के या 4 से अधिक सवारियों को बिठाते हुए पाए जायेंगे। नई नियमावली के अनुसार अंधेरा होते ही लाइट जलाना अनिवार्य होगा । इतना ही नहीं चालकों का चौराहे से 50 मीटर की दूरी पर यात्रियों को बिठाना या उतारना भी अनिवार्य होगा। ऐसा ना होने की स्थिति में भी कार्यवाही की जाएगी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महानगर के कुल 5000 ई रिक्शा ऐसे हैं जिनका पंजीकरण किया जा चुका है, लेकिन वर्तमान समय की बात करें तो केवल 355 ई-रिक्शा ही ऐसे हैं जिनके लिए रूट आवंटित किया गया है। बैठक में संभागीय परिवहन आयुक्त अनीता सिंह, पुलिस अधीक्षक यातायात डा. महेंद्र पाल सिंह, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी बीके सिंह, अपर नगर आयुक्त और ई-रिक्शा यूनियन के पदाधिकारी मौजूद थे।

 

#  जानिए कैसे होगा पंजीकरण व कैसे मिलेगा ड्राइविंग लाइसेंस____

ई-रिक्शा चालकों की सहूलियत के लिए 16 और 17 अगस्त को संभागीय परिवहन अधिकारी कार्यालय, गीडा में कैंप लगाया जाएगा। चालक वाहन का रजिस्ट्रेशन कराने के साथ साथ ड्राइविंग लाइसेंस भी बनवा सकते हैं।

 

# किस आधार पर लिया गया निर्णय___

* ई-रिक्शा वाहन के आगे पीछे स्पष्ट रूप से नम्बर अंकित होगा।

* रजिस्ट्रेशन के साथ मोबाइल नंबर लिंक कराना होगा।

* वाहन में एक ड्राइवर के साथ चार यात्री के बैठने की होगी अनुमति।

* गति कम होने के कारण ई- रिक्शा हमेशा बाएं तरफ ही चलेंगे।

* शीशे पर अंदर की तरफ़ चालक का नाम व मोबाइल नंबर अनिवार्य।

* चौराहो के 50 मीटर पहले या बाद में सवारी उतारना व बिठाना होगा।

* अंधेरा होने पर वाहन चलाते समय लाइट जलाना अनिवार्य होगा।

* ई- रिक्शा का परमिट तीन वर्ष के लिए ही वैध होता है ।

* हाई सिकयोरिटी नंबर प्लेट अनिवार्य रहेगी।

* बिना ड्राइविंग लाइसेंस के नहीं चला सकते ई-रिक्शा।

 

# किन रूटों का किया गया चयन___

1-बरगदवां से रेलवे स्टेशन वाया गोरखनाथ-धर्मशाला- 52

2- मेडिकल कॉलेज-रेलवे स्टेशन वाया असुरन- 18

3- नौसढ-कचहरी वाया प्रेमचन्द पार्क-शास्त्री चौक- 10

4- इंजीनियरिंग कॉलेज-रेलवे स्टेशन वाया मोहद्दीपुर- 14

5- एयरफोर्स-रेलवे स्टेशन वाया चारफाटक मोहद्दीपुर- 36

6- नौसढ़-रूस्तमपुर-पैडलेगंज-पुलिस चौकी मोहद्दीपुर- 29

7- इलाहीबाग-घासीकटरा-बक्शीपुर-टाउनहॉल-कचहरी- 35

8- खजान्ची चौराहा-एचएनसिंह चौराहा-धर्मपुर तिराहा-गीता वाटिका-असुरन-पुलिस चौकी मोहद्दीपुर- 18

9- डोमिनगढ़ रेलवे स्टेशन, तिवारीपुर, बेनीगंज चौराहा, जाफरा बाजार चौराहा, ऊंचवा, बक्शीपुर, बैंकरोड, विजय चौराहा, गोलघर- 84

10- इंजीनियरिंग कॉलेज से कचहरी वाया पैडलेगंज- 05

11- नंदा नगर से रेलवे स्टेशन वाया मोहद्दीपुर, कूड़ाघाट- 12

12- नीना थापा इंटर कॉलेज से कचहरी वाया कूड़ाघाट, पैडलेगंज- 03

13- पादरी बाजार से रेलवे स्टेशन वाया चारफाटक- 10

14- पादरी बाजार से कचहरी वाया मोहद्दीपुर – 07

15- फातिमा हॉस्पिटल से कचहरी वाया रेलवे स्टेशन- 06

16- फर्टिलाइजर से रेलवे स्टेशन वाया बरगदवां- 01

17- फर्टिलाइजर से कचहरी वाया मेडिकल कॉलेज- 02

18- बड़गो से रेलवे स्टेशन वाया कचहरी- 08

19- देवरिया बाईपास से कचहरी वाया सहारा स्टेट पैडलेगंज- 05।

Leave a Reply

Your email address will not be published.