Friday, September 30UAM - UDYAM-BR-13-0006027

गोरखपुर महानगर में अब कचरे से चलाई जाएँगी बसें, देखिये शुरु हुई तैयारी

गोरखपुर में अब बसों को अब कचरे से चलाने की तैयारी शुरू हो चुकी है, दरअसल आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के इंदौर की तर्ज पर अब महानगर में कचरे से बस चलाने की कवायद शुरू हुई है। कचरे और गोबर से कंप्रेस्ड नेचुरल गैस सीएनजी और लिक्विड खाद बनाने वाली महाराष्ट्र की कंपनी के अधिकारी गोरखपुर आ सकते हैं वही आपको बता दे कि इंडो एनवायरो इंटीग्रेटेड सल्यूशन लिमिटेड के अधिकारियों को सजनवा के सुथनी में सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट के लिए अधिग्रहित जमीन दिखाई जा सकती हैं।

आपको बता दें कि मुख्य सचिव के निर्देश पर नगर आयुक्त टीम के साथ इंदौर के दौरे पर गए हुए  हैं  जान ले कि इंदौर में कचरे से सीएनजी व लिक्विड खाद बनाने का काम किया जाता है। इंदौर इंदौर में महाराष्ट्र की कंपनी ने कचरे का निस्तारण कर सीएनजी व खाद बनाती है और नगर निगम को रुपए भी देती है। नगर आयुक्त के द्वारा प्लांट का निरीक्षण किया और गोरखपुर में भी इसी तरह के प्लांट स्थापित की जा सकती है।

महानगर में रोजाना 400 टन निकलता है कूड़ा

गोरखपुर महानगर में  400 टन रोजाना गीला और सूखा कचरा निकलता है जिसमें 70% गीला कचरा होता है फिलहाल इसे एकला बांध पर डाल दिया जाता है वही मटेरियल रिकवरी फेसेलिटी सेंटर में नगर निगम कुछ मात्रा में कचरे का निस्तारण कर जैविक खाद बनाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.