Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

गोरखपुर के 10 कालोनियो की बदलेगी सूरत, सीएम योगी ने प्रस्ताव को दिया मंज़ूरी

गोरखनाथ क्षेत्र जलजमाव से पूरी तरह मुक्त होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर बनाए गए प्रस्ताव को सरकार ने मंजूरी दे दी है। जलजमाव को दूर करने के लिए नगर निगम को 53 करोड़ रुपये मिलेंगे। त्वरित आर्थिक विकास योजना के तहत काम होगा।

 

मुख्यमंत्री 2 अप्रैल को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जलजमाव की रोकथाम की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने गोरखनाथ क्षेत्र को जलजमाव से मुक्त करने का प्रस्ताव तैयार करने को कहा था। इसके बाद गोरखपुर विकास प्राधिकरण ने मास्टर ड्रेनेज प्लान तैयार करने के लिए चयनित फर्म जियोनो इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के साथ सर्वे किया। कंपनी ने 61 करोड़ 67 लाख 74 हजार रुपये का प्रस्ताव रखा था। इसके बाद नगर निगम के इंजीनियरों ने मौके पर निरीक्षण कर प्रस्ताव तैयार किया। इसके बाद 60 करोड़ पांच लाख 44 हजार रुपये का प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजा गया। पानी रोहिन नदी में डाला जाएगा। ग्रीन सिटी के अंदर कवर्ड ड्रेन बनाया जाएगा।

 

इन कालोनियों के नागरिकों को मिलेगा लाभ

ग्रीन सिटी, नेताजी सुभाष चंद्र बोस नगर, बिलंदपुर खट्टा, माधोपुर, बसियाडीह, सूरजकुंड, सूर्य विहार कॉलोनी, सिद्धरीपुर, रसूलपुर, अजय नगर।

 

यह काम करेगा

19 किमी 713 मीटर की लंबाई में आरसीसी नाला बनाया जाएगा। 725 मीटर लंबाई में बिछाई जाएगी ह्यूम पाइप, तीन पंप लगेंगे, बिजली कटौती से निपटने के लिए 25 केवीए जनरेटर भी लगाया जाएगा, बसियाडीह पंपिंग स्टेशन पर पांच अतिरिक्त पंप लगाए जाएंगे। ग्रीन सिटी में बनेगा नया पंपिंग स्टेशन, यहां लगेंगे तीन बड़े पंप । दो सम्पवेल लिए जाएंगे।

 

चार नालों पर लगेंगे जाली।

बसियाडीह, नेताजी सुभाष चंद्र बोस नगर, स्टेपिंग स्टोन और नेताजी सुभाष चंद्र बोस नगर नाला अपस्ट्रीम दोनों तरफ 1.20 मीटर की ऊंचाई पर बनाए जाएंगे। इस जाली के लगने से कोई भी कचरा नहीं फेंक पाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर बने प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। गोरखनाथ क्षेत्र को जलभराव से पूरी तरह मुक्ति मिलेगी। पूरी योजना भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाई गई है। अविनाश सिंह, नगर आयुक्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.