Friday, September 23UAM - UDYAM-BR-13-0006027

गोरखपुर के सिटीबसो में फ़्री में कर सकेंगे सफ़र, उसके लिए तय हुआ उम्र और पैमाना जानिए

गोरखपुर से एक अच्छी खबर आ रही है अब सरकारी बसों में 60 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाएं मुफ्त में सफर कर सकेंगी। मंडलायुक्त रवि कुमार एनजी से मिली जानकारी के अनुसार 60 वर्ष से ज्यादा उम्र वाली महिलाओं के लिए सार्वजनिक परिवहन में मुफ्त यात्रा की व्यवस्था की जानी है। एक योजना के तहत नगर परिवहन की बसों से होने वाली दुर्घटनाओं में मरने वाले यात्रियों के आश्रितों को ₹50,000, घायल को ₹5,000 तथा गंभीर रूप से घायल को ₹20,000 की तत्कालीन आर्थिक सहायता करने की व्यवस्था भी है। इसी तरह के कई सारे लोक कल्याणकारी योजनाएं/ कार्यक्रमों में नगरीय निकायों से संबंधित योजनाएं शासन द्वारा संचालित की गई है।

 

# कमिश्नर ने लिया तैयारियों का जायजा__

मंडलायुक्त आयुक्त सभागार में गोरखपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि नगरीय क्षेत्रों के भीड़ वाले रूटों को चिन्हित कर बसों की संख्या बढ़ाएं, ताकि लोगों का आवागमन सुविधाजनक हो सके। उन्होंने जगह-जगह पार्किंग विकसित करने तथा नौसढ़ सहित अन्य प्रमुख स्थलों पर इलेक्ट्रिक बसों के चार्जिंग प्वाइंट स्थापित करने पर जोर दिया।

 

 

# टिकट चोरी पर अंकुश लगाने के दिए आदेश।
शासन ने रोडवेज के अधिकारियों को सूचित किया है कि जल्द से जल्द टिकट चोरी पर अंकुश लगाने का प्रयास करें एवं किसी भी हालत में बसों को सड़क पर खड़ा ना रखें। रास्ते में वाहनों की चेकिंग करें और बिना टिकट के पकड़े जाने पर जुर्माना भी लगाएं। रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक पी.के. तिवारी द्वारा संचालित इस बैठक में अपर आयुक्त प्रशासन ए.के सैनी, एसपी ट्रैफिक डॉक्टर एमपी सिंह और संभागीय परिवहन अधिकारी अनीता सिंह भी मौजूद रही।

 

# प्रवर्तन टीम ने चलाया अभियान___

नगर निगम की प्रवर्तन टीम ने कर्नल सी.पी सिंह के नेतृत्व में गुरुवार को प्रतिबंधित प्लास्टिक के विरुद्ध अभियान चलाया। शास्त्री चौक से लेकर बेतियाहाता तक अलग-अलग दुकानों पर छापा मारकर पालीथिन जब्त की गई। टीम ने कुल 12 किलो पालीथिन जब्त की। दुकानदारों से 10 हजार रुपये का जुर्माना भी वसूल किया गया। कर्नल सी.पी सिंह ने बताया कि पहली जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक पूरी तरह से प्रतिबंधित है। इसका उपयोग करने पर सात साल की जेल का प्रावधान है। प्रवर्तन टीम ने रेलवे स्टेशन रोड पर अतिक्रमण हटाने के लिए लोगों को चेतावनी भी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.