Friday, September 30UAM - UDYAM-BR-13-0006027

गोरखपुर के रोडवेज़ बसो में कल से नया नियम लागू, नए लुक में दिखेंगे चालक और परिचालक जानिए

गोरखपुर में नियमों का सख्ती से पालन हो सके इसके लिए प्रशासन हर संभव प्रयास करने को तैयार है, इसी कड़ी में एक खबर मिली है कि अब गोरखपुर में रोडवेज बसों के चालकों व परिचालकों का वर्दी पहनना अनिवार्य किया जाने वाला है। इतना ही नहीं चालकों व परिचालकों द्वारा अपनी वर्दी पर एक नेम प्लेट भी लगाना अनिवार्य होगा, जिसमें पद सहित उनका नाम अंकित होगा। बताया जा रहा है कि प्रशासन द्वारा इसके सख्त निर्देश मिले हैं कि 9 सितंबर तक वर्दी सिलवा लेनी है एवं 10 सितंबर से इसे पहनना अनिवार्य कर दिया जाएगा, जिसके लिए प्रशासन द्वारा सभी चालक एवं परिचालकों के खाते में वर्दी के दो पेंट, एक शर्ट एवं उसकी सिलाई हेतु 1,800 रुपए भेजे जा चुके हैं।

 

# क्या निर्देश मिले हैं चालकों को____

सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक महेश चंद्रा से मिली जानकारी के अनुसार वर्दी के सिलाई एवं नेमप्लेट बनवाने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। जिन चालकों व परिचालकों को यह दिशा निर्देश मिले हैं, उनमें गोरखपुर डिपो के नियमित एवं संविदा चालक समेत छह सौ चालक व परिचालकों के नाम शामिल है। प्रशासन के निर्देशानुसार नेम प्लेट पर परिवहन निगम का लोगो, पदनाम एवं एंपलाई कोड अंकित करवाना अनिवार्य होगा।

 

# क्या होगा वर्दी का रंग__

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जहां एक तरफ चालकों की वर्दी खाकी रंग की होगी, वहीं दूसरी तरफ परिचालकों की वर्दी स्लेटी रंग की होगी एवं जूतों के लिए काला रंग निर्धारित किया गया है। नेम प्लेट के लिए नमूना भेजा जा चुका है एवं इस बात का खास ध्यान रखा गया है कि सभी चालक एवं परिचालकों की वर्दी लगभग एक समान हो।

 

# क्या कहा गया अधिकारियों द्वारा____

परिवहन निगम क्षेत्रीय प्रबंधक पीके तिवारी ने बताया कि चालकों और परिचालकों के खाते में धन भेजने के साथ शासन ने दस सितंबर से वर्दी और नेम प्लेट अनिवार्य कर दिया है। इसका अनुपालन कराने के लिए सभी संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देशित कर दिया गया है। बिना वर्दी के पकड़े जाने पर अर्थदंड लगाया जाएगा।

 

# क्या है आगे की तैयारी___

* गोरखपुर नगर निगम के 10 जोन में आउटसोर्सिंग पर जोनल मोबलाइजर एवं जोनल वाहन प्रभारी की नियुक्ति की गई है।

* कुछ जोन के लिए आउटसोर्सिंग पर सफाई निरीक्षकों की भी नियुक्ति की गई है।

* नगर आयुक्त ने जोनल अफसरों, जोनल मोबलाइजर, सफाई निरीक्षकों एवं वाहन प्रभारियों के साथ बैठक कर हर जोन में चालकों का एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर वाहनों पर नजर रखने का निर्णय लिया।

* जोनल अफसरों को हर हाल में सुबह क्षेत्र के सफाई व्यवस्था का निरीक्षण करने के निर्देश दिए गए।

* बैठक में नगर आयुक्त द्वारा जोनल मोबलाइजर को घर-घर जाकर गिला व सूखा कूड़ा अलग करने के लिए लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिए गए।

* नगर आयुक्त के आदेश अनुसार घरों से मिलने वाले गीले कूड़े से कंप्रेस्ड नेचुरल गैस बनाने की प्रक्रिया के बारे में नागरिकों को बताया जाएगा।

* वाहन प्रभारियों द्वारा गाड़ियों के रखरखाव एवं मरम्मत पर रखी जाएगी नजर।

Leave a Reply

Your email address will not be published.