Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

गोरखपुर के इन क्षेत्रो में तेज़ी से निचे जा रहा जमीन का पानी, 6 जगहों पर लगा था पीजों मीटर, जानिए भूगर्भ जल विभाग ने क्या कहा

गोरखपुर वासियों के लिए चिंतित करने वाली खबर सामने आ रही है। बता दें कि गोरखपुर शहर के बाहरी क्षेत्रों में जमीन का पानी का स्तर तेज़ी से निचे जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार चरगांवा विकासखंड क्षेत्र में भूगर्भ का जलस्तर पिछले वर्षों के तुलना में 2 मीटर नीचे चला गया है। विशेषज्ञों के द्वारा इसका मुख्य कारण भूगर्भ जल का ज्यादा दोहन बताया जा रहा है। लेकिन आपको बता दें कि शहर के अंदरूनी इलाकों में भूगर्भ जलस्तर के आंकड़े पिछले वर्षों की तुलना में अच्छा है।

सिक्टौर और नौसड़ में नीचे गया जल स्तर
आपको बता दें कि भूगर्भ जल विभाग ने मानसून के आने से पहले भूजल स्तर का सर्वे कराया था जिस का आंकड़ा अब जारी किया है इसके अनुसार सिक्टौर और नौसड़ में  जल स्तर नीचे गया है। जबकि वही शहरी क्षेत्र के बेतियाहाता, मंडी परिसर, हांसूपुर, घंटापुर और रुस्तमपुर के पास बड़गो में पिछले साल की तुलना में इस साल जलस्तर बेहतर पाया गया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मानसून आने के पहले और मानसून जाने के बाद भूगर्भ जल स्तर का सर्वे, भूगर्भ जल विभाग के द्वारा किया जाता है। शहर और आसपास के क्षेत्रों में 6 जगहों पर पीजों मीटर के माध्यम से यह गणना किया जाता है और इसका रिपोर्ट भूगर्भ जल विभाग शासन को सौपता है। भूगर्भ जल विभाग के टेक्निकल असिस्टेंट दिनेश चंद्र जायसवाल के अनुसार गोरखपुर शहर के बाहरी क्षेत्रों में जलस्तर 2 मीटर तक नीचे चला गया है। जल स्तर नीचे गए उन इलाकों में जल स्तर को बेहतर करने के लिए शासन के निर्देशानुसार कार्य किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.