Saturday, October 1UAM - UDYAM-BR-13-0006027

गोरखपुरवाशियो को मिलेगा 6KM लम्बा जॉगिंग ट्रैक, खर्च होंगे 10 करोड़, जानिए कहा होगा निर्माण

गोरखपुर वासियों को अब तक का सबसे लंबा जॉगिंग ट्रैक मिलने वाला, बता दें कि गोरखपुर में रामगढ़ ताल के सामने स्थित वाटर बॉडी के सुंदरीकरण का काम जल्द ही शुरू कर दिया जाएगा। मीडिया खबर के अनुसार आपको बता देगी गोरखपुर के रामगढ़ ताल स्थित वाटर बॉडी 42 एकड़ में फैली हुई है जिसकी सुंदरीकरण किया जाएगा,वही इसमें नाव भी चलाये जायेंगे, गोरखपुर में पर्यटन को और बढ़ावा मिलेगा, यह आकर्षण का केंद्र बनेगा और ज्यादा से ज्यादा संख्या में लोग यहां घूमने आएंगे। जीडीए यानी गोरखपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी ने इसकी टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दिया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 42 एकड़ में फैले यह वाटर बॉडी रामगढ़ ताल नौकायान के सामने से अंबेडकर पार्क वसुंधरा एंक्लेव सहित योगी राज बाबा गंभीर नाथ प्रेक्षागृह के पीछे तक फैला हुआ है। बहुत ही कम समय में रामगढ़ ताल की स्थिति वाटर बॉडी कि सुंदरी  करण का कार्य पूरा हो जाएगा जिसके बाद पर्यटकों के लिए यह एक और आकर्षण का केंद्र बन जाएगा।कभी इस ताल में जलकुम्भी भरी होती थी वही जीडीए उपाध्यक्ष प्रेम रंजन सिंह की पहल पर वाटर की सफाई किया गया जिसके बाद सुंदरीकरण की परियोजना भी तैयार की गई है।

ढाई सौ मीटर चौड़ा बनेगा पाथवे

आपको बता दें कि वाटर बॉडी के चारों ओर लगभग 28 मीटर चौड़ा पाथवे बनाने की योजना है लगभग 6 किलोमीटर लंबा टहलने के लिए शहर के सबसे बड़ा ट्रैक  हो जाएगा। यहां लोग सुबह शाम टहलने के साथ-साथ सुंदरीकरण का भी लाभ उठा सकेंगे।

नाव भी चलाने की है योजना
मिली खबर के अनुसार आपको बता दे कि इस वाटर बॉडी में नाव भी चलाने की योजना है इसमें छोटी नाव चलाई जाएगी। उसको अंबेडकर पार्क से भी जोड़ा जाएगा जहां घूमने आने वाले लोग इस आकर्षण केंद्र का आनंद उठा सकेंगे।

वाटर बॉडी के किनारे लगेंगे फूल और पौधे
बन रहे इस वाटर बॉडी के किनारे आकर्षण और पर्यावरण को मद्देनजर देखते हुए फूल और पौधे भी लगाए जाने की योजना है यहां पूरा हरा भरा दिखाई देगा। यही नहीं यहां बैठने के लिए ब्रांच की भी सुविधा दी जाएगी। इसके किनारे आकर्षक लाइटें भी लगाई जाएंगी ताकि शाम को घूमने वाले लोगों को दिक्कत ना हो।

10 करोड़ होंगे खर्च

वाटर बॉडी के सुंदरीकरण करने के लिए लगभग 10 करोड़ खर्च किए जाएंगे, जानकारी के अनुसार इसकी रखरखाव की जिम्मेदारी एक होटल को दी जाएगी। इस वाटर बॉडी की शुरुआत से लेकर अंतिम छोर तक छोटी नावों की संचालन होगी लोग इस में बैठकर वॉटर बॉडी के आनंद उठा सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.