Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

कानपूर सीएसजेएमयू से पढाई करने वाले और कर चुके छात्रों के लिए खुशखबरी, विवि देने जा रहा एक खास मौका

सीएसजेएमयू  यानी छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय से पढ़ाई कर चुके छात्र छात्राओं को डिग्री मंगलवार  से दिया जाएगा।   हम आपको बता दें कि बीते दिन सोमवार को विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ अनिल यादव ने यह जानकारी दिया है कि मंगलवार से डिग्री वितरण का काम शुरू किया जाएगा। डिग्री वितरण करने के लिए उपाधि वितरण कैंप का शुरुआत किया जाएगा।  इस कैंप का उद्घाटन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर विनय पाठक के द्वारा किया जाएगा।  कुलसचिव  के बताने का अनुसार वर्ष 1976 से  सन 2000 तकका  डिग्री लेने के लिए पंद्रह सौ  रुपए चार्ज किए जाएंगे।  वही  वर्ष 2001 से 2020 तक के डिग्री लेने के लिए ₹1000 फीस छात्र-छात्राएं को देना पड़ेगा। डिग्री को लेने के लिए छात्र छात्र छात्राएं मार्कशीट की जेरॉक्स कॉपी और फोटो पहचान पत्र की छायाप्रति  साथ लाना होगा। छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय से पढ़ाई करने वाले सभी छात्र छात्राएं और जन अपनी डिग्री मंगलवार से ले सकेंगे।

 

अब हर मरीजों पर किया जायेगा  शोध-

सीएसजेएमयू परिसर स्थित स्वास्थ्य केंद्र को लेकर एक अच्छी  खबर आ रही है।  हम आपको बता दें कि छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय परिसर स्थित स्वास्थ्य केंद्र है।  इस स्वास्थ्य केंद्र में आने वाले सभी मरीजों  पर अब शोध करने की योजना की तैयारी चल रही है। आपको बता दें कि यह फैसला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर विनय पाठक के द्वारा लिया गया है। खबर के अनुसार स्वास्थ्य केंद्र में जो भी मरीज आएंगे उनका डाटा मैनुअल की जगह ऑनलाइन अपलोड किया जाएगा।  मरीजों का डाटा मैनुअल की जगह ऑनलाइन अपलोड करने की वजह यह  होगा कि विश्वविद्यालय के पास मरीज का पूरा रिकॉर्ड  रह सकेगा। सभी मरीज पर शोध करने का उद्देश्य यह  रहेगा कि मरीज को दिए गए इलाज का आंकड़ा तैयार किया जा सके। 

 

विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य केंद्र में आने वाले मरीजों का केंद्र में कई तरह की जांच किया जाता है।  बहुत से मरीज यहां आते हैं और अपना इलाज करवाते हैं।  जिसके वजह से आए हुए मरीजों पर यूनिवर्सिटी इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ साइंस  मे जो भी छात्र छात्राएं पढ़ाई कर रहे हैं।  वह अपनी पढ़ाई के साथ-साथ  शोध भी कर पाएंगे।  स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ प्रवीण कटियार के बताने के अनुसार  विभाग को और अच्छा करने की तैयारी चल रही है।  स्वास्थ्य केंद्र के लिए  कई मशीनें भी मंगवाने के लिए  कुलपति को भेजा गया है।  स्वास्थ्य केंद्र पर बहुत जल्द ही ओपीडी और अन्य कार्य शुरू हो जाएंगे। 

 

फेल हुए छात्रों के लिए स्पेशल होगा परीक्षा-

सीएसजेएमयू और संबंधित विश्वविद्यालयों के हजारों और लाखों छात्र और छात्राओं के लिए एक बड़ी खबर साबित होने वाली है। दरअसल हम आपको बता दें कि विश्वविद्यालय  द्वारा  एक ऐसा कदम उठाया गया है जिसमें लाखों छात्र छात्राओं का भला  होगा।  विश्वविद्यालय के द्वारा एक  स्पेशल परीक्षा करवाने की तैयारी चल रही है।  हम आपको बता देगी जो छात्र छात्राएं स्नातक और परास्नातक  में एक या दो विषय में फेल हुए थे।  एक या दो विषय में फेल होने के चलते उनको डिग्री नहीं मिल पायी थी ।  हम आपको बता दें कि विश्वविद्यालय के द्वारा  कराए जाने वाले इस स्पेशल परीक्षा में अब आप भाग लेकर अपना डिग्री ले सकते हैं।  इस स्पेशल परीक्षा में बैठने के लिए आपको ₹5000 प्रति पेपर का फीस देना होगा। सबसे अच्छी बात यह है कि यह परीक्षा एक ही दिन होगा और आप इस स्पेशल परीक्षा को पास करके अपना डिग्री ले सकते हैं। 

 

विश्वविद्यालय के द्वारा यह पहल इसलिए किया गया है कि  1976 से लेकर अभी तक लगभग दस लाख डिग्रियां को वितरण का फैसला किया गया है।  आपको बता दें कि हजारों की संख्या में ऐसे छात्र-छात्राएं हैं जो पर्यावरण विज्ञान के विषय में फेल हुए और उन्हें डिग्री नहीं मिल पाई थी ।  वैसे छात्र-छात्राएं जो एक या दो विषय में फेल हुए थे वह इस स्पेशल परीक्षा को देखकर अपने डिग्री ले सकेंगे। कुलसचिव  विश्वविद्यालय  डॉ अनिल यादव के बताने का अनुसार, 2012 से लेकर अभी तक के  छात्रों को पहले चरण में परीक्षा देने का मौका दिया। वही हम आपको बता दें कि  दूसरे चरण में वर्ष 2012 से पहले के छात्र-छात्राएं भी इस स्पेशल परीक्षा के लिए आवेदन करने का मौका दिया जायेगा । 

 

डिग्री वितरण का होगा आयोजन-

जो भी छात्र छात्राएं स्नातक और परास्नातक का परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके हैं और वह अपने डिग्री लेना चाहते हैं।  तो विश्वविद्यालय के परिसर में डिग्री वितरण का एक कैंप लगाया जा रहा है।  इस कैंप में आकर आप अपना डिग्री ले सकते हैं।  15 जून से शुरू होने वाले इस डिग्री वितरण कैंप में सुबह 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक डिग्री बांटा जाएगा।  खबर के अनुसार ऐसा पहली बार हो रहा है कि कैंप लगाकर परिसर में डिग्री बांटने का काम किया जाएगा। 

 

दसवीं पास कर सकेंगे टेक्सटाइल डिज़ाइन की पढाई-

दसवीं के छात्र छात्राओं के लिए टैक्सटाइल डिजाइन के पढ़ाई करने का सुनहरा मौका आया है। हम आपको बता दें कि अगर आप 1दसवीं वीं पास कर चुके हैं तो आप  टेक्सटाइल डिजाइन की पढ़ाई  विश्वविद्यालय से कर सकते हैं।  टैक्सटाइल डिजाइन पढ़ाई करने के लिए विश्वविद्यालय इंस्टीट्यूट आफ फाइन आर्ट्स  में शुरू होने वाले टैक्सटाइल डिजाइन, चित्रकला  तथा अप्लाइड आर्ट्स, स्कल्पचर में  एडमिशन ले सकते हैं।  हम आपको बता दें कि यह जानकारी विभागाध्यक्ष डॉक्टर बृजेश कटियार ने सोमवार को दिया था।  उन्होंने आगे बताया था कि इन कोर्सो के लिए  10- 10 सीटें रहेंगे, लेकिन  फोटोग्राफी, ग्राफिक डिजाइन, 3D एनीमेशन, और 3D मॉडलिंग में 15–15 सीटें रहेंगे।  इन सभी कोर्सो  की अगर बात करें तो  पाठ्यक्रम की अवधि 1 वर्ष का होगा। जो छात्र छात्राएं दसवीं उत्तीर्ण है और यह कोर्स करना चाहते हैं तो यह आपके लिए एक सुनहरा मौका साबित होगा। 

 

चलते चलते हैं  हम आप लोगों को बता देगी की अगर आप एक या दो विषय में फेल हुए थे जिसके चलते आपको डिग्री नहीं मिली थी।  तो आप इससे स्पेशल परीक्षा का  हीसा बनकर आप अपना डिग्री ले सकते हैं। पहले चरण में आयोजित होने वाले  इस स्पेशल परीक्षा का लाभ आपको अवश्य लेना चाहिए। क्योंकि ऐसा मौका विश्वविद्यालय द्वारा बार-बार नहीं मिलेगा। स्नातक और परास्नातक पास हो चुके  छात्रों को  विश्वविद्यालय के परिसर में आयोजित डिग्री वितरण कैंप में आकर अपना डिग्री जरूर ले। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.