Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

कानपुर में हुई ई-बस हादसे के बाद, मंडलायुक्त ने दिया चलको और अधिकारियो को सख्त निर्देश, चेकिंग टीम रखेंगी नजर

कानपुर में 30 जनवरी की रात को हुई बस हादसा को शायद ही कोई कभी भूल सकता है। इलेक्ट्रिक बस से 30 जनवरी की रात टाटमिल चौराहा के पास बस से हुई हादसे में 6 लोगों की मौत और 9 लोग घायल हुए थे। ऐसी घटना फिर दोबारा ना हो इसको लेकर मंडल आयुक्त द्वारा सख्त कदम उठाया गया है। हादसे के बाद ई बस चालकों को सख्त नियम लागू किया गया है। मंडलायुक्त ने कहां है कि बस चालक ड्राइविंग करते समय फोन पर बात करते हैं जो यह सुरक्षा की नजर में सही नहीं है। इसके अलावा उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि परिचालक के पास चालक का फोन बस चलाते समय रखने है।उनके द्वारा यह भी निर्देश दिया गया है कि किसी भी हाल में कंट्रोल रूम का संचालन शुरू किया जाये । यात्री किसी भी तरह का सूचना दे सके, इसके लिए सिटी बस हेल्पलाइन नंबर सभी तरह के इलेक्ट्रिक और सीएनजी सिटी बसों के अंदर और बाहर लिखवाने का निर्देश दिया है। सिटी बस हेल्पलाइन नंबर के अलावा निजी बस चालक एजेंसी के कंट्रोल रूम का भी नंबर लिखवाने के निर्देश दिया है।

आपको बता देंगे इलेक्ट्रिक बसों में लगे सीसीटीवी कैमरो के वीडियो रिकॉर्डिंग के बैकअप डाटा को 3 महीने के लिए सुरक्षित रखने को कहा है। यही नहीं बस स्टॉप पर चालक और परिचालकों का ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट चेकिंग करने वाली टीम को चेक करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा बसों को गलत तरीके से सड़क पर रुकना सवारी भरना और बस गलत तरीके से चलाना इन सभी बिन्दुओ को चेक करने के निर्देश दिए गए हैं। इलेक्ट्रिक बसों में लगे पैनिक बटन को लेकर मंडलायुक्त ने सवाल किया जिस पर जवाब सही नहीं मिला। जिसके बाद तीर्थाकर सिटी बस कंपनी को किसी भी हाल में 20 फरवरी तक कंट्रोल रूम ट्रायल जबकि 28 फरवरी तक संचालन शुरू करने के लिए निर्देश दिया है। बस चालकों और परिचालकों का स्वास्थ्य जांच करने और हेल्थ कार्ड बनाने को भी कहा है। #kanpur electric bus accident.

Leave a Reply

Your email address will not be published.