Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

कानपुर में खुल रहा है पेन मेडिसिन विभाग ,अब लोगो को असहनीय दर्द से मिलेगा छुटकारा

अगर आपको भी होता है असहनीय दर्द घबराने जरूरत नहीं है क्युकी अब जल्द ही ऐसे दर्दो से छुटकारा मिलने वाला है। कैंसर रोगियों को भी असहनीय दर्द से जल्द ही छुटकारा मिलने वाला है । आपको बता दें कि कानपुर के गणेश शंकर विद्यार्थी सुपर स्पेशियलिटी पोस्ट ग्रैजुएट इंस्टीट्यूट में देश का दूसरा पेन मेडिसिन विभाग खुल रहा है । यह देश का दूसरा पेन मेडिसिन विभाग खुल रहा है भारत में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में ही पेन मेडिसिन विभाग है। कानपुर के पेन मेडिसिन विभाग खोलने के लिए जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य के इस प्रपोजल पर शासन के द्वारा मोहर लगा दिया गया है। भारत में फिलहाल हड्डी जोड़ का दर्द या कैंसर के दर्द से मरीजों को आराम देने के लिए एनेस्थीसिया विभाग के अधीन पेन क्लिनिक चलाया जाता है मरीजों के मौजूदा कंडीशन के हिसाब से एनेस्थेटिक इलाज किए जाते हैं। लेकिन एनएमसी यानी नेशनल मेडिकल कमिशन के द्वारा इसे पेन मेडिसिन नया विभाग कर दिया गया है यही नहीं इस विभाग में पढ़ाई भी शुरू हो गया है।

शहर के पीजीआई और जीएसवीएम के लिए पेन मेडिसिन विभाग खुलना एक बहुत बड़ी बात है। पेन क्लिनिक की शुरुआत जीएसवीएम में 2014 में डॉ अनुराग अग्रवाल के द्वारा द्वारा किया गया था। उनके द्वारा रीढ़ का दर्द कमर दर्द एवं कैंसर का असहनीय दर्द को राहत देते थे। लेकिन डॉ अनुराग अग्रवाल त्यागपत्र देकर 2016 में यहां से लखनऊ के राम मनोहर लोहिया सुपर स्पेशियलिटी इंस्टीट्यूट में चले गए थे। बड़ी बात यह है कि नया विभाग देश में कही नहीं है जी एस वी एस एस पीजीआई पेन मेडिसिन विभाग खोलने वाला पहला संस्थान है। कानपुर में पेन (दर्द) मेडिसिन विभाग खुलने से असहनीय दर्द से लोगों को राहत मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.