Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

कानपुर में इस बार जन्माष्ठमी पे नहीं होंगे कोई भी सांस्कृतिक कार्यकर्म, पुलिस आयुक्त का ये है आदेश

कुछ दिनों में जन्माष्टमी आने वाला है लेकिन खबर आ रही है कि जन्माष्टमी के अवसर पर प्रशासन बिल्कुल भी ढील देना नहीं चाहती हैं। कोरोना वायरस संक्रमण भले ही कम हो गया है लेकिन प्रशासन अपने मूड में ही है। इस साल का जन्माष्टमी प्रतिबंधों के साथ ही मनाया जाएगा। इस साल जन्माष्टमी के अवसर पर मंदिरों की सजावट बखूबी भली-भांति होगी, लेकिन संस्कृतिक कार्यक्रम नहीं किया जाएगा। कोरोनावायरस प्रोटोकॉल को देखते हुए इस बार जन्माष्टमी पर सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होगा।

आपको बता दें कि पुलिस आयुक्त असीम अरूण के बताने के अनुसार भले ही कोरोनावायरस संक्रमण कम हो गया है लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। सांस्कृतिक कार्यक्रम जब होगा तो भीड़ इक्कठा होगी जो कि यह सही नहीं होगा। भीड़ बढ़ने से हालात खराब हो सकता है इन सब चीजों को देखते हुए जन्माष्टमी के अवसर पर भीड़ जुटाने का अनुमति नहीं दिया जाएगा।

मंदिरों को बखूबी अच्छे तरीके से सजावट होगी लेकिन एक समय में 50 श्रद्धालुओं का नियम जन्माष्टमी पर लागू रहेगा। उन्होंने आगे बताया कि पुलिस लाइन में जन्माष्टमी का हर साल धूमधाम से मनाया जाता है लेकिन इस साल सिर्फ झांकी सजेगी कोई संस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होगा। इसको लेकर जल्द ही धर्म गुरुओं के साथ बैठकर बातचीत होगी। पुलिस आयुक्त का दरअसल मानना है कि सांस्कृतिक कार्यक्रम करवा कर भीड़ इकट्ठा करना अच्छा नहीं होगा। भीड़ इकट्ठा होने से कोविड-19 का खतरा बढ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.