Friday, September 30UAM - UDYAM-BR-13-0006027

कानपुर-छह लेन रिंग रोड के लिए पहली बार हुवा ड्रोन सर्वे, काश्तकार नहीं बेच पाएंगे जमीन, अधिसूचना हुवा जारी

कानपुर-नगर, देहात और उन्नाव जिले में लगभग 93.5 किलोमीटर लंबा रिंग रोड बनाये जाना है और इसके लिए छह लेन बनाने को लेकर जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है आपको बता दे कि करीब 66 किलोमीटर रिंग रोड का हिस्सा नगर जिले में, 4 किलोमीटर हिस्सा देहात जिले में और शेष निर्माण उन्नाव जिले में होगा। रिंग रोड के लिए एनएचएआई के अधिकारियों के अनुसार नगर और देहात जिला में जमीन अधिग्रहण की अधिसूचना जारी कर दिया गया।

आपको बता दें कि मीडिया खबर के अनुसार रिंग रोड के दायरे में आ रही नगर और देहात जिले की जमीन अधिग्रहित करने की अधिसूचना जारी कर की गई है,अब काश्तकार इस जमीन को नहीं बेच सकेंगे और अगर निर्माण भी कराया तो मुआवजा भी नहीं मिलेगा। उन्नाव जिले की जमीन जो रिंग रोड के दायरे में आ रही हैं उसके लिए भी 10 दिन के भीतर अधिसूचना जारी करने की तैयारी है।

पहली बार कराया गया ड्रोन सर्वे,

खबर के अनुसार मंधना से सचेंडी, रमई पुर, चकेरी तक के गावों की भी जमीन को अधिग्रहित किया जायेगा इस जमीन की बिक्री पर रोक लगा दी गई है काश्तकारों को भी सूचना दे दिया गया है। पहली बार रिंग रोड के दायरे में आ रही जमीनों को ड्रोन से सर्वे कराया गया है। हालाँकि जमीन के अलावा निर्माण का 2 गुना मुआवजा मिलता है इसलिए अब यदि कोई अतिरिक्त निर्माण करेगा तो उसका मुआवजा नहीं मिलेगा ऐसा इसलिए क्योंकि ऐसे दाओं का वीडियो ग्राफी से मिलान किया जाएगा। वही काश्तकारों को नवंबर से जमीन का मुआवजा दिया जाएगा, नवंबर में ही टेंडर होंगे और अगले साल के शुरुआत में ही निर्माण भी कराने की योजना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.