Thursday, September 29UAM - UDYAM-BR-13-0006027

अब प्रयागराज जिले के महिलाये चलाएंगी ई-रिक्शा, ये रही पूरी जानकारी

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए हमेशा से सरकार का प्रयास रहा है। महिलाएं अपने पैरों पर खड़े होकर अपना खुद का इनकम बढ़ा सकें, उनको किसी के आगे बेबस होना ना पड़े इसके लिए सरकार द्वारा तरह-तरह के स्कीम लाया जाता है । सरकार द्वारा लाए गए कई तरह के स्कीमों में से एक राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन है

इस मिशन के तहत महिलाओं को मीटर रीडिंग, बीसी सखी, जैविक खेती, बैंक सखी ,अचार और मुरब्बा बनाने का काम, खोवा बनाने का काम, कैंटीन चलाने का काम करके महिलाओं को उनका इनकम बढ़ाए जाने का प्रयास किया गया है ।जिले में रजिस्टर्ड समूहों की अगर बात करें तो राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत तकरीबन साढ़े तेरह सौ के आसपास समूह रजिस्टर्ड है।

महिलाओं को रोजगार बढ़ाने के लिए इस योजना के तहत करीब एक लाख तक फंड दिया जाता है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत आमदनी को बढ़ाने के लिए अब जिले के 10 ब्लॉक में एक एक महिला को ई-रिक्शा दिया जाएगा, इसके लिए महिलाओं का चयन और इ रिक्शा को चलाने के लिए रूट भी तय किया जाएगा।

अधिकारी बताते हैं कि इसके लिए ग्राम संगठन का प्रस्ताव बनाने के लिए काम कर रहे हैं और बहुत जल्द ही शासन को भेज देंगे।यही नहीं इस मिशन के तहत लगभग ढेड़ लाख तक का लोन बिना ब्याज के तौर पर दिया जाएगा।प्रयागराज जिले के मिशन प्रबंधक अमित शुक्ला का कहना है कि समूह के सभी महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की ओर सरकार के अनुसार काम किया जा रहा है। ई-रिक्शा चलाने का काम भी उठाए गए कदमों में से एक है। इलेक्ट्रॉनिक रिक्शा चलाने के लिए प्रस्ताव माँगा गया है और बहुत जल्द ही इसको उपलब्ध करवा दिया जाएगा।

 

ब्लॉक को मिलेगा इ-रिक्शा –

बहरिया ,फूलपुर ,कोराव ,चाका ,जसरा, भगवत पुर, करछना, सोरांव, मेजा और शंकरगढ़ ब्लॉक को  मिलेगा एक एक इ-रिक्शा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.